डेवलपर आप्शन की पूर्ण जानकारी जो आपको इसका मास्टर बना देगा | Developer Option in Hindi

हेलो दोस्तों आज हम बात करेंगे आपके मोबाइल के एक छुपे हुए (hidden option) की जिसे डेवलपर आप्शन कहते हैं, जिसकी जानकारी बहुत से यूजर को नहीं होती है.

जैसा कि नाम से जानकारी मिलती है कि यह आप्शन developer के लिए है लेकिन इसका उपयोग एक यूजर भी कर सकता है.

डेवलपर आप्शन में ऐसी कई आप्शन है जो एक यूजर के लिए बहुत ही काम की हो सकती है और है भी तो आइये जाने डेवलपर आप्शन क्या है? what is developer option in hindi और इसके सभी आप्शन की पूर्ण जानकारी हम इस एक लेख में प्राप्त करेंगे.

डेवलपर आप्शन में हमें कुछ निम्न आप्शन मिलते हैं.

  1. General
  2. Debugging
  3. Networking
  4. Input
  5. Drawing
  6. Hardware accelerated rendering
  7. Media
  8. Monitoring
  9. Apps
  10. Autofill

इन सभी आप्शन के अंतर्गत कई और आप्शन होते हैं जिनकी चर्चा हम आगे इस लेख में करेगे.

डेवलपर आप्शन की सभी settings के बारे में जानने से पहले आइये जाने डेवलपर आप्शन होता क्या है?

डेवलपर आप्शन क्या है? | What is Developer Option in Hindi

developer option in hindi

डेवलपर आप्शन, मोबाइल डेवलपर को app development और debugging से जुड़े कार्यो को मोबाइल पर करने की अनुमति देता है.

यह यूजर के लिए hidden feature होता है और ऐसा इसलिए किया गया है कि डेवलपर आप्शन में ऐसे बहुत से settings होते हैं जिन्हें बदलने से मोबाइल के function में बदलाव आ जाते हैं.

यह बदलाव अच्छा भी हो सकता है और बुरा भी यदि आपको दिए गए आप्शन के उपयोग की जानकारी नहीं है.

डेवलपर आप्शन में ऐसे कई एडवांस सेटिंग्स हैं जो आपके मोबाइल की performance और उपयोग करने की experience को बदल सकता है.

वैसे बात करें इसके कुछ advantage की तो वह इस प्रकार है.

डेवलपर आप्शन के फायदे | advantage of developer option in hindi

  1. एंड्राइड की स्पीड को बढाया जा सकता है.
  2. USB debugging का उपयोग कर फोन के OEM Unlocking.
  3. बैकग्राउंड में चल रहे एप को लिमिट किया जा सकता है.
  4. fake gps location दिखाया जा सकता है.
  5. एप को sd card में डेवलपर आप्शन की सहायता से इनस्टॉल किया जा सकता है.
  6. चार्जिंग के समय मोबाइल की स्क्रीन को on रखा जा सकता है.
  7. cpu और running memory process को देखा जा सकता है.\
  8. graphic की quality बढाई जा सकती है.

डेवलपर आप्शन के इन फायदों को देखकर आपको लग रहा हो कि जल्दी से इसे ऑन कर लें.

ऐसे और भी कई कार्य हम डेवलपर आप्शन की सहायता से कर सकते हैं.

आइये अब जाने डेवलपर आप्शन ऑन कैसे करें?

डेवलपर आप्शन ऑन कैसे करे | how to enable developer option in hindi

डेवलपर आप्शन ऑन करने के लिए इन steps को फॉलो करें.

  1. अपने फ़ोन की settings में जाएँ और about phone पर click करें.
  2. अब version विकल्प पर जाएँ और build number को 7 बार टैप करें.
  3. अब आपको “you are now a developer” मैसेज दिखाई देगा.
  4. अब आपके settings में एक नया विकल्प जुड़ जाएगा.
  5. यदि settings में डेवलपर आप्शन न मिले तो आप एडिशनल सेटिंग विकल्प में जा कर डेवलपर आप्शन ढूंढे.

इस प्रकार आप डेवलपर आप्शन को ऑन कर सकते हैं, वैसे बहुत से फ़ोन में यह settings कहीं और भी हो सकती है अपने फ़ोन के model के हिसाब से आप डेवलपर आप्शन को ढूंढ सकते हैं.

हमने जाना कि डेवलपर आप्शन के उपयोग से क्या क्या किया जा सकता है और इसे ऑन कैसे करते हैं

आइये अब एक एक कर डेवलपर आप्शन के सभी विकल्प की चर्चा करते हैं जिससे आप अपने अनुसार डेवलपर आप्शन की बेस्ट सेटिंग का उपयोग कर सके.

General option

developer option kya hai

Memory – इस विकल्प में हम memory usage, memory की performance, total memory used और free memory की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, और यह भी कि कौन से एप ने कितनी memory का उपयोग किया है.

Desktop backup password – इस विकल्प का उपयोग कर आप अपने मोबाइल desktop के लिए backup password बना सकते हैं जिससे कि आप adb command का उपयोग कर apps और data का backup password होने के बाद भी ले सकें.

do not lock screen – यदि आप चाहते हैं कि आपका स्क्रीन लॉक न हो तो आप इस विकल्प का उपयोग कर सकते हैं.

keep screen on while charging – यदि आप चाहते हैं कि charging करते समय आपके मोबाइल की स्क्रीन off न हो तो आप इस विकल्प का उपयोग कर सकते हैं.

developer option in hindi

enable bluetooth HCI snoop log – जब कभी डेवलपर को host controller interface के packets को capture और analyze करना होता है तो वह इस विकल्प का उपयोग करते हैं.

OEM unlocking –  OEM unlocking का उपयोग तब किया जाता है जब हमें फ़ोन का bootloader unlock करना होता है जिससे फ़ोन को root किया जा सके.

developer option kya hai

running services –  आपके मोबाइल में चल रहे सभी process की जानकारी और स्टॉप करने की सुविधा इस विकल्प में आपको मिलती है.

automatic system update – इस विकल्प का उपयोग करने पर जब कभी भी system update प्राप्त हो फ़ोन उसे डाउनलोड कर फ़ोन के restart होने पर अपडेट कर सकता है.

quick settings developer tiles –  इस विकल्प का उपयोग कर quick settings panel में developer आप्शन के विकल्प को add किया सा सकता है जिसे आप quick settings panel एडिट कर notification panel में add कर सकते हैं.

Debugging

developer option ki sabhi jaankari

USB debugging – इस विकल्प का उपयोग डेवलपर द्वारा एप डेवलपमेंट, adb command चलाने और डेवलपमेंट कंप्यूटर से मोबाइल को जोड़ने के लिए किया जाता है, जिसका उपयोग एंड्राइड स्टूडियो द्वारा एप टेस्टिंग और adb प्रोग्राम द्वारा adb command चलाने किया जाता है.

revoke USB debugging authorization – किसी भी कंप्यूटर को दिया गया usb debugging परमिशन revoke किया जाएगा.

select moke location app –  इस विकल्प का उपयोग fake gps के लिए किया जाता है यदि आपको अपने मोबाइल की gps location को fake करना है, कारण कोई भी हो सकता है तो आप इस विकल्प का उपयोग कर सकते हैं इसके लिए आपको play store से fake gps एप डाउनलोड करना होगा.

enable view attribute inspection – डेवलपर द्वारा attribute को view करने उपयोग किया जाता है जैसे mattribute for member variable जो कि debugging के लिए उपयोग होता है.

select debug app –  डेवलपर द्वारा app सही कार्य कर रहा है यह नहीं यह check करने के लिए इस विकल्प का उपयोग किया जाता है, यूजर के लिए यह उपयोगी विकल्प नहीं है.

enable gpu debug layers –  यह विकल्प एंड्राइड 9 में उपलब्ध है जिसे enable करने से vulkan validation layer डिवाइस से load किया जा सकता है.

Networking

wireless display certification –  इसे enable करने से wireless display certification के लिए advance control और settings on हो जाती है.

enable wifi verbose logging – wifi signal के आधार पर wifi logging और wireless network से कनेक्ट किया जाता है.

mobile data always active – इस आप्शन को enable करने से यदि wifi के on होने पर भी मोबाइल डाटा on होती है और wifi off हो जाती है तो मोबाइल data में switch करता है.

default usb configuration –  इस विकल्प के प्रयोग से आप default usb की सेटिंग कर सकते हैं जब आप usb से मोबाइल कनेक्ट करे तो क्या होना चाहिए, जैसे फाइल ट्रान्सफर, चार्जिंग, usb thethering या कुछ और भी.

bluetooth AVRCP version – एक विकल्प का उपयोग कर आप ब्लूटूथ डिवाइस के लिए प्रोफाइल वर्शन चुन सकते है जिससे ऑडियो की क्वालिटी को आप change कर सके.

bluetooth audio codec – codec द्वारा अपने ब्लूटूथ डिवाइस की साउंड क्वालिटी को adjust किया जा सकता है. जैसे hi quality audio codec इसी प्रकार ब्लूटूथ से जुडी settings ब्लूटूथ विकल्प में है.

Input

developer option in hindi

show taps – जब आप स्क्रीन पर tap करते हैं तो एक circle आपको दिखाई देगा जिससे आप टच कहा हो रहा है यह देख सकते हैं.

pointer location – tap करने के बाद पॉइंटर किस दिशा में जा रही है इसकी जानकारी यह विकल्प प्रदान करता है.

Drawing

show layout bounds – इस विकल्प से आप स्क्रीन की layout, margin, boundary आदि देख सकते हैं.

force RTL layout direction – इस विकल्प से स्क्रीन का layout direction left से right की ओर चला जाता है.

developer option in hindi

windows animation scale (lower is faster) – इस विकल्प के उपयोग से विंडो एनीमेशन की स्पीड set की जा सकती है जितना आप इसकी speed slow रखेगे आपको faster speed प्राप्त होगी.

transition animation scale (lower is faster) – ट्रांजीशन की speed को set किया जा सकता है जितनी स्पीड कम रखेंगे फ़ोन की speed उतनी अधिक बढ़ जाएगी.

animation duration scale (lower is faster) – एनीमेशन में लगाने वाला समय जितना कम होगा फोन की speed उतनी अधिक होगी, इन settings को change कर आप अपने मोबाइल की speed में अंतर का पता आसानी से लगा सकते हैं.

Hardware accelerated rendering

show view update – gpu द्वारा बनाए गए एलिमेंट को show करता है.

debug gpu overdraw – एक color coding दर्शाता है जो यह बताता है कि एक frame में एक ही pixel को कितने बार draw किया गया है यह विकल्प भी डेवलपर के लिए उपयोगी है.

डेवलपर आप्शन क्या है

force 4x MSAA – यह विकल्प multisample anti-aliasing को open gl es 2.0 apps के लिए enable करता है जिससे graphic की क्वालिटी बढ़ जाती है, किन्तु यह फोन की अधिक बैटरी का उपयोग करता है.

disable HW overlays – इस विकल्प का उपयोग करने से जो भी एप स्क्रीन में कुछ प्रदर्शित करते हैं वह less processing power का उपयोग करेगे.

Media

disable usb audio routing – इस विकल्प को enable करने से usb port द्वारा जुड़े किसी भी external audio device को ऑडियो रिकॉर्ड करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

Monitoring

strict mode enabled – इस विकल्प से जब कभी कोई application अधिक लम्बे समय तक कोई task perform करती है तो screen flash कर आपको इसका संकेत प्रदान करती है.

profile gpu rendering – इस सेटिंग के उपयोग से आप अपने मोबाइल स्क्रीन में ग्राफ के माध्यम से gpu के process को देख सकते हैं.

Apps

developer option in hindi

background process limit – इस विकल्प का उपयोग कर आप अपने मोबाइल फोन में चल रहे बैकग्राउंड एप की लिमिट को set कर सकते हैं जिससे आप जितने चाहे उतने एप बैकग्राउंड में उपयोग कर सकते हैं, कम apps बैकग्राउंड में रखने पर फ़ोन की performance बढ़ जाती है.

don’t keep activities – यह आप्शन enable होने पर जैसे ही आप किसी एप को exit करते हैं वह एप kill कर दिया जाता है और कोई भी बैकग्राउंड एक्टिविटी नहीं होती है.

show background ANR’s – बैकग्राउंड में चल रहे apps के लिए apps not responding डायलॉग बॉक्स दिखता है जब भी कोई एप बैकग्राउंड में हैंग हो जाती है.

developer option kya hai

force allow apps on external – यह विकल्प हमें apps को sd card में इनस्टॉल करने की सुविधा प्रदान करता है.

force activities to be resizable – किसी भी एप को multi window function के लिए सक्षम बनाता है.

disable permission monitoring – एक विकल्प के द्वारा आप एप द्वारा मागे गए permission पर आने वाले dialog box को disable कर सकते हैं, किन्तु privacy के लिए इसे enable न करें.

restrict SMS & call log access –  इस विकल्प के उपयोग से फोन और मैसेज एप के अलावा कोई भी एप आपके sms और call log की जानकारी प्राप्त नहीं कर सकता है.

यह है एंड्राइड के डेवलपर आप्शन में मिलने वाले सभी आप्शन की जानकारी.

एप हाईड कैसे करे | एप लॉक कैसे लगाए

मोबाइल से प्रिंट कैसे निकाले | क्लाउड प्रिंट कैसे करे

फ़ोन गर्म क्यों होता है | मोबाइल गर्म होने पर क्या करे

निष्कर्ष

आज हमें जाना कि डेवलपर आप्शन क्या है? what is developer option in hindi, डेवलपर आप्शन के सभी आप्शन की पूर्ण जानकारी हमने प्राप्त की है.

डेवलपर आप्शन वैसे तो डेवलपर के उपयोग के लिए दी गयी है जिस कारण से यह hidden होती है किन्तु यूजर के लिए भी इनमे कई विकल्प होते हैं जिनकी जानकारी होने पर यूजर अपने मोबाइल की performance को बेहतर बना सकता है.

आप हमें बताएं डेवलपर आप्शन क्या है ? हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी.

यह जानकारी दुसरो तक भी अवश्य share करें, जिससे उन्हें भी जानकारी प्राप्त हो सके, धन्यवाद |

Leave a Comment